milap singh bharmouri

milap singh bharmouri

Thursday, 7 May 2015

Surnga ri sadka

पाल कमांदे दराट चलाई
फौजी कमांदे बंदूक चलाई
ते नेते कमांदे भाईयो लारे लाई

दो हजार सत्तारा इने वाला
नौऐ नौऐ लारे लगी पैने लगना
शिलान्यास बी बडे भरी भूने
छली छली करी गरीबा जो ठगना

अक्क बारी ता भाईयो छडना हुनाई
पुराने लारे कुतूने पूरे भुए भाई
होली रे ग्रां पानी जो हल्ले भी रूंदे ने
तैठी भी अक्क शिलान्यास भुआ थू भाई

बडे साला री हुनदे आए गप्पा
होली तांउ धर्मशाला जो बननी सुरंगा री सडका
जोता थल्ले भी अक्क सुरंग बनाना लाई थी
बनी करी रैई गई सब कोरी गप्पा

पांगी बैचारी रा भी सोईए हाल
अक्क तैठी भी सुरंग कडना लाईआ
बनी गच्छा ता होर के चैंइदा
पर अंदरूनी गल्ला जो कुन जाना भाईया

  
------- मिलाप सिंह भरमौरी

No comments:

Post a comment