milap singh bharmouri

milap singh bharmouri

Tuesday, 5 May 2015

निक्के री अडी

निक्के री अडी तै
जनानी रे दा

भगवान न कस्सी जो
इती मा हचा

पदरी बत्ता मंज फिरी
कवई इंदे हा

जे रूची गई गल भाईयो
करी देआ वाह

----- मिलाप सिंह भरमौरी

No comments:

Post a comment