milap singh bharmouri

milap singh bharmouri

Tuesday, 13 January 2015

लोहडी री मुबारक

जवाना री भुंदिआ भाइयो ऐ लोहडी
बुड्ढे बेचारे किंया खान रियोडी

नुहा ता चली गई पिओके जो
ते पुत्र भी चली गै तिंआरी पिचौरी

आग न जलदी सिन्नी छिडी सोगी
परात चुकाई करी बुड्डिऐ फकौडी

जे इज्जत भुल्ली दिला मा बुजुर्गा तांए
तांए जचनी आ भाईयो ऐ लोहडी

     ------ मिलाप सिंह भरमौरी

No comments:

Post a comment